चोर से मोबाइल बचाने के चक्कर में महिला ने गंवाई जान

आईजीआर संवाददाता
डोंबिवली.
लोकल से मोबाइल छिनने वाले चोर का पीछा करते हुए महिला लोकल (local) की चपेट में आ गई और उसकी दर्दनाक मौत हो गई। महिला का नाम विद्या पाटिल है। डोंबिवली में रहने वाली विद्या के चले जाने से उनकी तीन बेटियों के सिर से माँ का साया उठ गया है। इस घटना से एक बार रेलवे सुरक्षा पर सवाल उठने लगा है।

(ये भी पढ़िए- जरूरतमंदों को हरदिन मुफ्त भोजन वितरण)


मिली जानकारी के अनुसार डोंबिवली में रहने वाली विद्या पाटिल के परिवार में उनके पति और तीन छोटी बेटियां हैं। पूर्वा ( 9 वर्ष ), मेघा ( 6 वर्ष ), परी ( 7 महीने ) तीनो बेटियों के नाम है। विद्या मुंबई में एक निजी कंपनी में काम करती थी और शनिवार की शाम को लोकल से यात्रा कर रही थी। लोकल के महिला डिब्बे में केवल पांच महिलाएं यात्रा कर रही थीं। लोकल कलवा रेलवे स्टेशन से गुजर रहा था तभी एक मोबाइल चोर (mobile thief) लोकल में घुस गया। इसके बाद उसने विद्या पाटिल के हाथ से मोबाइल छिनने का प्रयास किया। लेकिन विद्या ने उसका विरोध किया। इस संघर्ष में विद्या का संतुलन बिगड़ गया वह लोकल से नीचे उतरी लेकिन प्लेटफार्म खत्म होने से वह नीचे गिर पड़ी। चोर के साथ हाथापाई में विद्या पाटिल की मौत हो गई। उनके जाने से बेटियों के सिर से माँ का साया उठ गया है।

इस संबंध में परिजनों का कहना है कि जो चोर पकड़ा गया है उसके खिलाफ ऐसे कई मामले दर्ज हैं और बार-बार कोर्ट से जमानत पर छूट जाता है और ऐसी घटनाओं को अंजाम देता है। ऐसे आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग पति ज्ञानेश्वर पाटील और विद्या के भाई योगेश मात्रे ने की है।