राजनेताओं के घर जाकर टीका किसने लगाया : मुंबई हाईकोर्ट

आईजीआर संवाददाता
मुंबई.
कोरोना (Corona) से निपटने के लिए सबसे महत्तवपूर्ण शस्त्र कोरोना का टीका लोगों के घर घर जाकर (Vaccination at doorstep) देने के संदर्भ में एक जनहित याचिका दाखिल की गई है। इस याचिका की सुनवाई के दौरानर मुंबई हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से यह सवाल पूछा कि राजनैतिक नेताओं के घर जाकर टीका किसने लगाया।(who vaccinated political leaders at home)। इस बारे में जल्द से जल्द कोर्ट ने स्पष्टीकरण देेने को कहा। मुंबई में वरिष्ठ नागरिकों को घर जाकर किसी ने टीका दिया? यह सवाल मुंबई मनपा (BMC) को भी पूछा गया। मुंबई मनपा ने अपने जवाब में कहा कि हमने ​नहीं दिया। उसके बाद हाईकोर्ट ने इस बारे में राज्य सरकार से पूछा। राज्य सरकार ने स्पष्टीकरण देने के लिए एक सप्ताह का समय मांगा है। मुख्य न्यायमूर्ती दिपांकर दत्ता ने कहा कि यह टीका किसने दिया इसका उत्तर देने के लिए एक सप्ताह की आवश्यता है? आप तत्काल राज्य के स्वास्थ्य सचिव से इस बारे में पूछे, आज ही कोर्ट का कामकाज समाप्त होने के बाद राजनैतिक नेताओं के घर जाकर टीका किसने दिया इस बारे में पता करने का निर्देश दिया।

मामला क्या है?

बता दें कि एडवोकेट धृति कपाडिया ने हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की। जो लोग नागरिक ​बेड पर ही हैं ऐसे लोगों के घर जाकर टीका लगाने की मांग याचिका के माध्यम से की गई थी। इस याचिका की सुनवाई करते समय दो दिन पहले ही न्यायालय ने पूछा की घर घर जाकर टीका क्यों नहीं दिया जा सकता? साथ ही मुंबई में वरिष्ठ नागरिकों को घर जाकर टीका किसने दिया? यह सवाल मुंबई मनपा को पूछा गया। मुंबई मनपा ने आज इस मामले में स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि हमने राजनेताओं के घर जाकर टीका नहीं दिया।