ठाणे में 102 अस्पतालों में टीकाकरण की मिली अनुमति

Thane. ठाणे में 102 अस्पतालों में टीकाकरण (Vaccination) की अनुमति मिल गई है। ठाणे मनपा (Thane Municipal Corporation) की ओर से निजी कार्यालयों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों और आवासीय परिसरों के लिए निर्धारित टीकाकरण नीति के तहत ठाणे शहर के लगभग 102 अस्पतालों को टीकाकरण की अनुमति दी गई है। इससे पहले मनपा ने 85 केंद्रों को मंजूरी दी थी। हालांकि, केंद्रों के लिए चुने गए अस्पतालों को लेकर विवाद खड़ा होने के बाद मनपा ने अपना आदेश को टाल दिया था। इसके बाद प्रशासन की तरफ से केंद्रों का पुन: निरीक्षण कर नए केंद्रों सहित कुल 102 स्थानों पर निजी टीकाकरण का मार्ग प्रशस्त किया है।

(ये भी देखेंशहर में बढ़ रहे हैं आवारा कुत्ते, ठीक से नहीं हो रही है नसबंदी)


उल्लेखनीय है कि मनपा द्वारा शुरू किए गए केंद्रों के माध्यम से टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। हालांकि, सरकारी आपूर्ति में अनियमितताओं के बावजूद ठाणेकरों के खत्म हो रहे सब्र को दूर करने के लिए केंद्रों के जरिए अभियान चलाया जा रहा है। मनपा ने ठाणे शहर में पात्र लाभार्थियों के टीकाकरण को लेकर असमंजस को कम करने और टीकाकरण में तेजी लाने के लिए दो दिन पहले निजी टीकाकरण का मार्ग प्रशस्त किया था। मनपा ने नीति के तहत टीकाकरण के लिए पहल करने का आह्वान करते हुए दो सप्ताह पहले शहर में 85 केंद्रों को मंजूरी दी थी। हालांकि, इनमें से कुछ जगहों पर पर्याप्त जगह और फायर ब्रिगेड की एनओसी के अभाव में अनुमति देने का मुद्दा उठाया गया था। संभावित भ्रम से बचने के लिए मनपा प्रशासन ने इन केंद्रों को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया था।

तत्पश्चात प्रभाग समिति स्तर पर प्रत्येक सहायक आयुक्त को अपने क्षेत्र के इन केंद्रों का सर्वेक्षण करने का निर्देश दिया गया है। मनपा के अधिकारियों ने बताया कि 102 केंद्रों को इन अस्पतालों के दस्तावेज, टीकाकरण के लिए आने वाले कम से कम 200 लोगों के बैठने की व्यवस्था, प्रशिक्षित मेडिकल स्टाफ और अन्य जरूरी सुविधाओं के बाद अनुमति दी गई।

निशु:ल्क नहीं मिलेगा टीका
जिन प्रतिष्ठानों को अनुमति दी गई है, उनका सरकार या मनपा द्वारा टीकाकरण नहीं किया जाएगा। ये केंद्र वैक्सीन निर्माताओं या वितरकों से टीकों का स्टॉक खरीदना चाहते हैं। मनपा केवल टीकाकरण केंद्र के तकनीकी मामलों पर मार्गदर्शन प्रदान करेगा। अनुमोदित संगठनों के माध्यम से वैक्सीन की दरें भी निर्धारित की जाएंगी। ऐसे में इन केंद्रों पर निशु:ल्क टीकाकरण नहीं होगा। यह अनुमति ठाणे मनपा की टास्क फोर्स के माध्यम से केंद्र और राज्य सरकारों के निर्देशानुसार दी गई है, जिसमें 18 क्लीनिक और 84 अस्पताल शामिल हैं। यह स्पष्ट किया गया कि मनपा की टीम के माध्यम से सभी क्लीनिकों के साथ-साथ अस्पतालों के कानूनी निरीक्षण और सत्यापन के बाद ही अस्पतालों को अनुमति दी गई थी कि वे टीकाकरण में सक्षम हैं। निजी आवास परिसरों में पहला निजी टीकाकरण भी ठाणे के हीरानंदानी इस्टेट (Hiranandani Estate) में किया गया है।