पहली ही बारिश में डूबा उल्हासनगर का वालधुनी पुल

आनंद शुक्ला
उल्हासनगर.
पहली ही बारिश में उल्हासनगर का वालधुनी पुल डूब गया है। बारिश का मौसम आते ही उल्हासनगर स्टेशन के पश्चिम वालों की चिंता बढ़ जाती है। गौशाला से उल्हासनगर स्टेशन कैसे जाएं यही बात लोगों को बहुत परेशान करती है। 9 जून की आई बरसात में वालधुनी नदी का पानी बढ़ने से गौशाला वाला पुल पूरी तरह से डूब गया।
स्टेशन की तरफ रहने वाले निवासियों को तकलीफ तो होती ही है, मगर सामान को लोकल से मुंबई या कहीं और ले जाने वाले व्यापारियों को काफी तकलीफ होती है। साथ ही जो बुजुर्ग या मरीज जिनको अपने निजी वाहन से उल्हासनगर स्टेशन जाना हो वो भी पुल से पानी खत्म होने का इंतजार 2-3 घंटों तक करते हैं।
काफी समय से गौशाला पुल की ऊंचाई बढ़ाने की मांग होती रही है, लेकिन कुछ नहीं हुआ। पश्चिम में स्टेशन से लगकर एक पुल बनाया गया, जिसका निर्माण किसी कारणवश अधूरा छोड़ा गया है। वह अधूरा पुल आज भी मजबूती से खड़ा है और अपने पूरे होने का इंतजार कर रहा है,
लोगों का कहना है कि स्थानीय नगरसेवक और प्रशासन कृपया इस पर ध्यान दे और उस अधूरे बने पुल का निर्माण पूरा करे।