पहचान पत्र मांगने पर टिकट निरीक्षक की पिटाई

ठाणे. पहचान पत्र मांगना एक टिकट निरीक्षक को महंगा पड़ गया है। दिवा रेलवे स्टेशन पर टिकट जांच के दौरान विकास पाटिल और गणेश देवडिगा की पिटाई कुणाल शिंदे (21) और हर्षल भगत (25) ने कर दी थी। ठाणे लौहमार्ग पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।

मंगलवार दोपहर करीब 3 बजे टिकट निरीक्षक विकास पाटिल, गणेश देवाडिगा और रेलवे सुरक्षा बल के सिपाही रजनीश कुमार भी मुंबई से टिटवाला जाने वाली ट्रेन में बिना टिकट यात्रियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे थे। उसी डब्बे में कुणाल शिंदे भी सवार थे। विकास पाटिल ने उनसे टिकट मांगा लेकिन उनके पास टिकट नहीं था। जब विकास ने उनसे आवश्यक सेवा कार्ड मांगा तो वह बहस करने लगे।  उसने दिव्या में रहने वाले अपने दोस्त हर्षल भगत को भी दिवा रेलवे स्टेशन पर बुलाया। विकास ने कुणाल से जुर्माना भरने को कहा तो कुणाल ने टिकट निरीक्षक की पिटाई शुरू कर दी।  विकास के सहयोगी गणेश मदद के लिए आए तो कुणाल ने उनकी भी पिटाई कर दी। उसके बाद रजनीश कुमार ने कुणाल को हिरासत में ले लिया।  ट्रेन जब दिवा रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो विकास, गणेश और रजनीश कुमार कुणाल को ट्रेन से उतारकर दिवा थाने ले जा रहे थे, उसी समय दिवा रेलवे स्टेशन पर खड़े हर्शल ने वहां भी उनकी पिटाई शुरू कर दी। थाने की पुलिस ने बाद में हर्शल और कुणाल को गिरफ्तार कर लिया।