नवी मुंबई से खोए बच्चे को दिल्ली पुलिस ने खोजकर परिजनों से कराया मिलन

पुरुषोत्तम कनौजिया
Navi Mumbai.
नवी मुंबई के सानपाडा से अप्रैल महीने में खोए बच्चे (The child lost in the month of April from Sanpada in Navi Mumbai) को दिल्ली पुलिस ने खोजकर परिवार के हवाले कर दिया है। बच्चा गूंगा और बहरा होने के कारण कुछ बता नहीं पाया लेकिन उसने इशारों में बताया है कि कुछ लोग उसे घर के नीचे से कार में बिठा कर ले गए थे। बच्चे के पिता ने बताया कि उनका बच्चा 5 अप्रैल को खो गया था, जिसकी एफआईआर उन्होंने सानपाडा पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई थी।

एफआईआर के मुताबिक बच्चे का नाम साहिल भडगले था, जिसकी उम्र 13 साल है, उसके पिता अक्षय माथाडी कामगार हैं और मां मैफको मार्केट में काम करती थी। बड़ी बहन उसका ख्याल रखती थी, लड़का अक्सर घर से बाहर घूमने के लिए बाहर जाता था और थोड़ी देर बाद वापस आ जाता था लेकिन उस दिन जब वह कई घंटों तक वापस नहीं आया तो उसकी बहन उसे खोजने के लिए घर से बाहर गई और पूरे सानपाडा गांव में खोजा लेकिन वह नहीं मिला। जिसके बाद उसने अपने पिता को फोन करके बताया कि भाई खो गया है, पिता ने बच्चे की मां को फोनकर बच्चे के खोने की खबर दी। खबर मिलने के बाद दोनों घर आए और अड़ोस पड़ोस में पूछताछ की लेकिन बच्चे का कुछ भी पता नहीं चला। तब जाकर उन्होंने पुलिस स्टेशन में जाकर एफआईआर दर्ज कराई, तबसे बच्चा गायब था।

( ये भी पढ़े- दुकानों का पंचनामा कर नुकसान की भरपाई दें : कैट )
2 जून को अचानक उन्हें व्हाट्सएप पर एक मैसेज आया, जिसमे उनके बच्चे की फोटो थी। मैसेज भेजने वाले ने कहा कि उनका बच्चा दिल्ली में है आकर ले जाएं। बच्चे के पिता अक्षय ने वह मैसेज सानपाडा पुलिस को दिखाया, तो पुलिस ने उस मैसेज को वेरिफाई करके परिजनों से कहा जाओ दिल्ली जाकर अपना बच्चा ले आओ फिर परिजन दिल्ली गए, जहां पुलिस ने कोर्ट से इजाजत लेकर बच्चे को परिजनों के हवाले कर दिया। वहां बच्चे के पिता को तीन अनजान लोग मिले जिन्होंने बताया कि बच्चा उन्हें दिल्ली स्टेशन पर मिला था और उन्होंने ही इस बच्चे को चाइल्ड केयर सेंटर पहुंचाया था। चाइल्ड केयर सेंटर के लोगों ने पुलिस को जानकारी दी थी, जिसके बाद उन लोगों ने परिजनों से संपर्क कर उन्हे यहां बुलाया था।