अभिनेत्री मीरा चोपड़ा टीकाकरण मामला, जांच समिति के हाथ लगा 13 फर्जी आईकार्ड

ठाणे. अभिनेत्री मीरा चोपड़ा टीकाकरण मामले की जांच कर रही समिति को 13 फर्जी आईकार्ड हाथ लगे हैं। ऐसे में मनपा के पार्किंग प्लाजा कोविड सेंटर में जारी धांधली और पुख्ता हुई है। जब्त 13 फर्जी कार्डों के जरिये कितनों को टीका लगा है यह अभी साफ़ नहीं हो पाया है। पिछले सप्ताह शुक्रवार को टीके की पहली खुराक पार्किंग प्लाजा कोविड सेंटर में लेने का खुलासा मीरा चोपड़ा ने खुद फोटो के साथ अपने सोशल मीडिया पर किया था। जिसके बाद अस्पताल में बतौर सुपरवाइजर कार्यरत होने का मीरा का फर्जी आई कार्ड सामने आया। मामले के सामने आते ही मनपा आयुक्त डॉक्टर बिपिन शर्मा ने स्वास्थ्य उपायुक्त विश्वनाथ केलकर के मार्गदर्शन में गठित जाँच समिति को मामले की जांच का आदेश दिया था और समिति को तीन दिन में रिपोर्ट देनी है। जाँच शुरू हुई तो 13 और फर्जी आई कार्ड मिले।सूत्रों के मुताबिक कार्डो की जाँच में पता चला की जिनके नाम के कार्ड हैं वे अस्पताल में कार्यरत नहीं हैं। इनमे से कितनो को टीका दिया गया इस बात का पता नहीं चल पाया है। बताया गया है कि मामले को लेकर जाँच समिति अधिक सबूतों को जमा करने की कोशिश में है। इस बारे में पूछे जाने पर एडिशनल कमिश्नर गणेश देशमुख का कहना है की अभी छानबीन शुरू हैं और समिति की रिपोर्ट नहीं मिली है। फर्जी आई कार्ड कोविड सेंटर में मैंन पॉवर की आपूर्ति करने वाले ठेकेदार ओम साईं आरोग्य केयर प्राइवेट लिमिटेड द्वारा बनाया गया है। ठाणे मनपा मनपा संचालित पार्किंग प्लाजा कोविड सेंटर के अलावा ग्लोबल हब कोविड अस्पताल का भी ठेका इसी संस्था के पास है। ग्लोबल अस्पताल में डेढ़ लाख रूपये लेकर मरीजों को आईसीयू बेड उपलब्ध कराने, शवों की अदलाबदली, नर्सों को कई माह का वेतन न देने,मरीजों के परिजनों को उचित जानकारी न देने, मरीजों को ठीक दर्जे का भोजन न देने इत्यदि आरोप लगा है। बिभिन्न विवादों और आरोपों के चलते ठेकेदार का ठेका रद्द करने की मांग की गयी है।

कांग्रेस ने की एफआईआर दर्ज करने की मांग
अभिनेत्री मीरा चोपड़ा द्वारा हेल्थ वर्कर के रूप में टीका लेने के मामले में ठाणे कांग्रेस अध्यक्ष व नगरसेवक विक्रांत चव्हाण ने ठाणे पुलिस आयुक्त जयजीत सिंह वर्तक नगर पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक को पत्र देकर इस मामले में संबंधित ठेकेदार के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने की मांग की हैं। चव्हाण का कहना है कि पार्किंग प्लाजा टीकाकरण केंद्र उनके नगरसेवक क्षेत्र में आता है और और वार्ड में इस प्रकार की घटना निंदनीय है। इसलिए दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।