मध्य प्रदेश में सडक़ का निर्माण पूरा, शेष के लिए यूपी सरकार से गुहार

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश को जोडऩे वाली सडक़ से जुड़े हैं दोनों तरफ के सैकड़ों गांव
बारा विधायक डा. अजय कुमार ने सूबे के डिप्टी सीएम केशवप्रसाद मौर्य को लिखा पत्र

आलोक गुप्ता
Prayagraj.
उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश (UP & MP) के सैकड़ों गांवों की एकमात्र सडक़ का निर्माण अभी भी अधर में है। 16 किमी लंबी इस सडक़ का 14.5 किमी का निर्माण मध्य प्रदेश सरकार ने करवा दिया है। अवशेष 1400 मीटर का निर्माण उत्तर प्रदेश सरकार के जिम्मे है, लेकिन यूपी सरकार से अभी तक धन का आवंटन नहीं किए जाने से निर्माण अधर में लटका हुआ है। इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए बारा विधायक डा. अजय कुमार (MLA Dr. Ajay Kumar) ने डिप्टी सीएम केशवप्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshavprasad Maurya) को पत्र लिखकर क्षेत्रवासियों की समस्या से अवगत कराया।

यूपी-एमपी को जोडऩे वाली यह सडक़ शंकरगढ़ रेलवे स्टेशन (Shankargarh Railway Station) से रींवा मार्ग (पटहट, भडि़वार नौढिय़ा उपरहार, गदामार होते हुए रींवा) तक जाती है। यह सडक़ एमपी में 14 किमी से अधिक की दूरी तय करती है, जबकि यूपी में यह महज डेढ़ किमी ही है। सबसे बड़ी बात यह है कि उक्त सडक़ से जुड़े गांवों के आवागमन का यह एकमात्र रास्ता है और एमपी के दर्जनों गांवों के लोगों को यदि ट्रेन पकडऩी होती है तो उन्हे यूपी के शंकरगढ़ रेलवे स्टेशन आना पड़ता है।

पिछले दो दशक से अधिक समय से जजर पड़ी सडक़ के निर्माण के लिए प्रयास शुरू हुआ तो यूपी और एमपी की सरकार ने निर्माण को मंजूरी प्रदान की। इसके बाद एमपी की सरकार ने अपनी तरफ की 14.5 किमी रोड (सीसी सडक़) का निर्माण करवा दिया है, पर यूपी के क्षेत्र में स्थित 1400 मीटर सडक़ के लिए अभी तक धन का आवंटन नहीं किया जा सका है, इससे निर्माण अधर में लटकता जा रहा है।

कार्यदायी संस्था से जुड़े ठेकेदार का कहना है कि यदि शीघ्र ही धन का आवंटन हो जाए तो वह कार्य पूर्ण करवा देगा। इस समस्या से परेशान नगर पंचायत शंकरगढ़ के लोगों ने बारा विधायक डा. अजय कुमार से मुलाकात की। इस पर बारा विधायक ने अवशेष 1400 मीटर सडक़ का निर्माण करवाए जाने के लिए डिप्टी सीएम केशवप्रसाद मौर्य से मांग की है।

कस्बे के व्यापारियों ने सीएम से लगाई गुहार
नगर पंचायत शंकरगढ़ कस्बे के निवासी व विहिप नगर अध्यक्ष सुजीत कुमार केसरवानी, वार्ड छह धर्मनगर की सभासद ज्योति केसरवानी, व्यापार मंडल के अध्यक्ष मूलचंद्र गुप्ता, महामंत्री रतन केसरवानी, खंड कार्यवाह नरेंद्र कुमार गुप्ता, सभासद प्रकाशचंद्र गुप्ता, पूर्व सभासद अरुण सोनी और भाजपा नेता सोमनाथ वर्मा आदि ने भी सीएम को पुन: पत्र के माध्यम से इस समस्या से अवगत कराया है और अवशेष सडक़ का निर्माण करवाए जाने की मांग की है।

एमपी की दो तहसीलों का स्टेशन है शंकरगढ़
यूपी-एमपी की सीमा पर स्थित जिस सडक़ का निर्माण कार्य अधूरा पड़ा है, उस पर सैकड़ों गांवों के आवागमन का भार है। उक्त मार्ग पर रींवा जनपद (मध्यप्रदेश) की दो तहसीलों त्योंथर और जवा के गांव स्थित है। जहां के निवाासी आवागमन के लिए इसी अंतरराज्यीय संपर्क मार्ग का प्रयोग करते हैं। इसके अलावा दिल्ली-मुंबई के लिए ट्रेन पकडऩे के लिए भी लोगों को शंकरगढ़ रेलवे स्टेशन आना पड़ता है।