पुणे हादसा: डीएनए टेस्ट के बाद होगा मृतकों का अंतिम संस्कार

महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल (Maharashtra Home Minister Dilip Walse Patil) ने  बताया कि पुणे हादसे में मृत 18 लोगों के शवों का डीएनए टेस्ट करवाया जाएगा। इसके बाद इन सभी लोगों का शव अंतिम संस्कार के लिए उनके रिश्तेदारों को दिया जाएगा। दिलीप वलसे पाटिल ने मंगलवार को पुणे स्थित सैनिटाइजर बनाने वाली एसवीएस कंपनी का दौरा किया। मौके पर सांसद सुप्रिया सुले भी मौजूद थीं। गृहमंत्री ने बताया कि यहां सोमवार को लगी आग में जले 18 लोगों के शवों की शिनाख्त नहीं हो पा रही है।

( ये भी पढ़े- पुल पर मिली लापता युवक की मोटरसाइकिल, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका )

इसी वजह से सभी शवों का डीएनए टेस्ट करवाया जाएगा । डीएनए टेस्ट रिपोर्ट के बाद ही शवों की पहचान की जा सकेगी। दिलीप वलसे पाटील ने मामले की गहन छानबीन का आदेश जारी किया है। मामले की जांच कर रहे पुलिस निरीक्षक अशोक धुमाल ने बताया कि आगजनी की जांच जारी है। इस मामले में छह लोगों से पूछताछ की जा रही है। मामले में किसी भी दोषी को बक्शा नहीं जाएगा। उल्लेखनीय है कि सोमवार को पूर्वाह्न तकरीबन चार  बजे एसवीएस केमिकल कंपनी में अचानक आग लग जाने से 18 लोगों की मौत हो गई थी। मामले की जांच के लिए पुणे के जिले जिलाधिकारी डॉ. राजेश देशमुख ने सोमवार को ही विभागीय अधिकारी शैलेंद्र शिर्के की अध्यक्षता में 9 सदस्यीय जांच समिति गठित की थी। यह जांच समिति आज शाम जांच रिपोर्ट सरकार को सौपने वाली है।