UP Board Exam: किसे मिलेगा कितना नंबर, माशिप को भेजा सुझाव

डीआईओएस के साथ प्रधानाचार्यों और प्रतिनिधियों ने की बैठक, आनलाइन कक्षाओं पर हुई चर्चा

मनीष सिंह बिसेन
Pratapgarh.
हाईस्कूल और इंटर मीडिएट (UP Board Exam) की रद्द परीक्षाओं के परीक्षार्थियों को किस प्रकार से नंबर दिया जाए, इसे लेकर आज एक बैठक हुई, जिसकी अध्यक्षता डीआईओएस (DIOS) सर्वदानंद की। बैठक में शामिल जनपद भर के कालेजों के प्रधानाचार्यों ने अंक आवंटन को लेकर अपना-अपना सुझाव दिया। इस पर एक राय होकर इसकी सूचना माध्यमिक शिक्षा परिषद को प्रेषित कर दी गई है।

डीआईओएस दफ्तर में हुई बैठक में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा वर्ष 2021 निरस्त होने के बाद विद्यार्थियों के मूल्यांकन के संबंध में सुझाव लिया गया। इस बैठक में राजकीय, अशासकीय सहायता प्राप्त और वित्तविहीन मान्यता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के प्रतिनिधियों, प्रधानाचार्यो ने सहभागिता की और सुझाव दिया। बैठक में प्राप्त सुझावों को संकलित कर सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश को भेजा गया।

बैठक में सर्वसम्मति से दो सुझाव पर अमल किया गया। जिसमें पहला कक्षा बारह के विद्यार्थियों के लिए है। इसके तहत कक्षा 12 के परीक्षार्थियों के मूल्यांकन के लिए परीक्षार्थी के 10वीं कक्षा में प्राप्त प्राप्तांक, कक्षा 11 की वार्षिक परीक्षा का प्राप्तांक और कक्षा 12 की प्रीबोर्ड परीक्षा के प्राप्तांक को आधार बनाने पर सहमति जताई गई है।

इसी तरह हाईस्कूल के परीक्षार्थियों के लिए मूल्यांकन का आधार परीक्षार्थियों को कक्षा नौ की वार्षिक परीक्षा में प्राप्त प्राप्तांक तथा कक्षा 10 की प्रीबोर्ड की परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर दिए जाने पर सहमति जताई गई है।

बैठक में वर्चुअल/ऑनलाइन कक्षाओं के संचालन पर चर्चा की गई। बैठक में जीआईसी के प्रधानाचार्य राजकुमार सिंह, जीआईसी बरहदा के प्रधानाचार्य डॉ विंध्याचल सिंह, पीबी इंटर कालेज प्रतापगढ़ सिटी के प्रधानाचार्य डॉ अनूप कुमार सिंह, तनवीर फातिमा प्रधानाचार्य राजकीय उमावि बसौली, फादर आनंद कुमार जान प्रधानाचार्य एंथोनी इंटर कालेज, डॉ मो अनीस, डॉ राघवेंद्र कुमार पांडेय प्रधानाचार्य शंकर विद्यालय इंटर कॉलेज कटैया, सदस्य अभिभावक शिक्षक संघ राजकीय बालिका इंटर कालेज, मो. उमर जमील, करिज्मा खान प्रधानाचार्य राजकीय उमावि धौरहरा, नसरत अली, राजेश दुबे आदि शामिल रहे।