मुंबई एयरपोर्ट पर यात्रियों को अब आरटी-पीसीआर की जरूरत नहीं

आईजीआर संवाददाता
मुंबई.
महाराष्ट्र में कोरोना रोगियों की संख्या में कमी आई है। राज्य में सोमवार को कोरोना वायरस के 15,000 से अधिक मरीज मिले और मरने वालों की संख्या में तेजी से गिरावट आई है। ऐसे में मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर महाराष्ट्र से आने वाले घरेलू यात्रियों को आरटी-पीसीआर टेस्ट से छूट दी गई है। मुंबई एयरपोर्ट पर उतरने के बाद महाराष्ट्र के यात्रियों को अब आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने की जरूरत नहीं (Passengers no longer need RT-PCR at Mumbai airport) है। बीएमसी ने सोमवार को इससे संबंधित आदेश जारी किया।

(मुंबई नगर निगम का चुनाव टालना चाहती है शिवसेना: आशीष शेलार)

बीएमसी (BMC) ने कहा कि मुंबई एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस (airlines) को यात्रियों को आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने के लिए बाध्य नहीं करना चाहिए। आरटी-पीसीआर टेस्ट का इस्तेमाल जल्द से जल्द कोरोना का निदान करने के लिए किया जाता है। नए आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होंगे। इसलिए, महाराष्ट्र से मुंबई के लिए हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों को राहत मिलेगी। महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आई है। हालांकि लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी गई है। लेकिन, प्रतिबंधों में ढील दी गई है।
इससे पहले मुंबई एयरपोर्ट पर उतरने वाले हर यात्री के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना अनिवार्य कर दिया गया था। 48 घंटे तक यात्री के सैंपल लिए जा रहे थे। बिना आरटी-पीसीआर टेस्ट के यात्रा करना प्रतिबंधित था। बीएमसी ने एयरपोर्ट अथॉरिटी और गो-एयर, इंडिगो, स्पाइसजेट समेत एयरलाइंस के सीईओ को नए ऑर्डर लागू करने का आदेश दिया है।