मनपा के सभी सभी दावों की खुली पोल

शहर के 47 जगहों पर हुआ जल जमाव
आईजीआर संवाददाता
Thane
. महापौर नरेश म्हस्के और ठाणे मनपा आयुक्त डॉ विपिन शर्मा (Mayor Naresh Mhaske and Thane Municipal Commissioner Dr. Vipin Sharma) पिछले दो दिनों से औचक दौरा कर नालों की सफाई का जायजा ले रहे थे और दवा कर रहे थे कि इस बार मानसून के दौरान निचले इलाकों को छोड़कर अन्य जगहों पर जल जमाव नहीं होगा. लेकिन बुधवार को ही ठाणे मनपा की मानसून पूर्व तैयारियों की पोल खुल गई. पहली बरसात में ही शहर के करीब 47 जगहों पर जलजमाव हुआ.

ठाणे के मुख्य बाजारपेठ,खारकर आली, वंदना सिनेमा, राम मारुति रोड, गडकरी रंगायतन, वृन्दावन सोसायटी में घुटने तक पानी भरा था. इसके साथ ही कलवा स्थित सह्याद्री सोसायटी, कावेरी सेतु, अद्वैत सोसायटी, मुंब्रा में बी.आर. नगर से ओमकार नगर ऐसे अनेकों परिसरों में जल जमाव देखा गया. इस प्रकार शहर कई जगहों पर घुटने तक पानी नजर आया. कई परिसरों में लोगों के घरों में भी पानी भर गया और पानी निकालते नजर आए. वहीँ प्रशासन द्वारा चेतावनी देने के बावजूद लोग बड़ी संख्या में घरों से बाहर जाकर बरसात का मजा लेते दिखाई दिए जिसके कारण शहर का मुख्य हाईवे सहित आंतरिक सड़कों पर यातायात जाम रहा है और वाहनों की लंबी कतार लगी रही. वहीँ लोकमान्य नगर परिसर में एक सुरक्षा दीवार ढह गई जिससे कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचा. लेकिन कोई बड़ी जन हानि नहीं हुई.

(यह भी पढ़े-जंगल में पेड़ पर लटकती मिली दो सहेलियों की लाश)

बता दें कि इससे पहले मनपा की सत्ताधारी और मनपा प्रशासन ने दावा किया था कि नालों की सफाई अच्छा हुआ है. परंतु पहली बारिश में ही मनपा के सारे दावों की पोल खुल गई. ध्यान रहे कि 9 जून से 12 जून के दरम्यान चार दिन जोरदार बरसात होने की पूर्व सूचना मौसम विभाग ने दी थी. जो सही साबित हुआ और बुधवार की सुबह से ही मूसलाधार बरसात शुरू हो गया. इस बीच कुछ देर के लिए बरसात रुकी परन्तु फिर शुरू हुई तो हाहाकार मचा दी. इससे शहर के निचले हिस्से में जल जमाव होने लगा. ईस्टर्न एक्सप्रेस हायवे पर आनंद नगर, ट्रैफिक पुलिस चौकी के सामने बरसात का पानी जमा ही गया था. जिसके कारण आनंद नगर टोल नाके पर यातायात जाम लग गया और वाहनों की लंबी कतार देखि गई. तक़रीबन यही हालत ठाणे के घोड़बंदर रोड पर भी सड़क के दोनों के किनारों पर वाहनों की कतार लगी दिखाई दी.

इसमें मेट्रो-4 का काम शुरू होने और जगह-जगह खुदाई का काम होने के कारण समस्या और भी विकट हो गई थी. वहीँ दूसरी तरफ कैडबरी ब्रिज पर एसटी बस चालक का नियंत्रण छूट जाने के कारण ज्युपिटर अस्पताल के पास एसटी बस सड़क के डिवाडर से टकरा गई और एसटी बस का मामूली नुकसान हुआ लेकिन इस दौरान भी करीब एक घंटे तक ट्रैफिक जाम रहा. दिवा हो या मुंब्रा या फिर कलवा सभी जगह पानी जमा नजर आया. सावरकर नगर में पंचामृत अपार्टमेंट की सुरक्षा दीवार अचानक गई वाहनों पर गिर गई और काफी नुकसान हुआ. इसी तरह शहर के मध्य स्थित नौपाडा परिसर में स्थित गोडबोले अस्पताल परिसर का दीवार गिर गई. लेकिन इन हादसों में किसी भी प्रकार की जान हानि नहीं हुई है.