पेट्रोल और डीजल दर वृद्धि को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ नवी मुंबई कांग्रेस का आंदोलन

ज्योति दुबे
Navi Mumbai.
कोरोना संकट (Corona crisis) में प्रदेश में सत्ताधारी कांग्रेस की ओर से (In the Corona crisis, a state-wide agitation was organized) पेट्रोल और डीजल दर वृद्धि को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ सोमवार को राज्यव्यापी आंदोलन किया गया। नवी मुंबई में पार्टी की ओर से सुबह 11 बजे पेट्रोल पम्प के बाहर आंदोलन किया गया। तालुका अध्यक्ष रविन्द्र सावंत (Taluka President Ravindra Sawant) ने बताया कि रविवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने आदेश दिया था कि कांग्रेस के कार्यकर्ता और पदाधिकारी प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में कम से कम तीन पेट्रोल पंपों पर आंदोलन के जरिए मोदी सरकार का विरोध करेंगे। उस आदेश के अनुसार आज यह आंदोलन किया गया ।महाराष्ट्र प्रदेश सचिव संतोष शेट्टी ने बताया कि पेट्रोल की दर प्रति लीटर 100 रुपए के पार हो गई है।

( ये भी पढ़े – घोर अन्याय: लेवल-1 जैसे पॉजिटिविटी और ऑक्सीजन आक्यूपेंसी दर रखने वाले भिवंडी को अनलाक बाबत लेवल-3 की सुविधाएं )

डीजल की कीमत 92 रुपए है। यदि ऐसी ही दर वृद्धि होती रही तो आने वाले दिनों में डीजल की दर 100 रुपए लीटर होने पर देर नहीं लगेगा। वहीं घरेलू गैस की कीमत 900 रुपए प्रति सिलेंडर हो गई है। उन्होंने ने कहा कि जनता पहले से कोरोना संकट की मार झेल रही है। महंगाई के कारण लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। इसलिए पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ हमारा यह आंदोलन है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल पर टैक्स से लाखों करोड़ रुपए का मुनाफा कमा रही है। लेकिन जनता को महंगाई की खाई में ढकेल रही है।