शिवसेना के द्वारा बढ़ती महंगाई के खिलाफ आंदोलन

ये मोदी सरकार नही तो या महंगाई सरकार हैं

डोंबिवली. पिछले कुछ दिनों में पेट्रोल की बढ़ती कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर से अधिक तक पहुच गई हैं, डीजल और अब घरेलू गैस सिलेंडर की कीमतों में भी तेज़ी से बढ़ोतरी हुई है। डोंबिवली शाहरप्रमुख राजेश मोरे के नेतृत्व में ऊष्मा पेट्रोल पंप के बाहर शिवसैनिकों ने आंदोलन किया हैं। बढ़ती महंगाई के खिलाफ “हर हर महंगाई, घर घर महंगाई”, मोदी सरकार हाय हाय “(Har har dearness, ghar ghar inflation”,)” शिवसैनिकों ने नारेबाजी की। शिवसेना ईंधन दरों के खिलाफ राज्य भर में केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रही है। इस आंदोलन में शहरप्रमुख राजेश मोरे, संजय पावशे, सुधीर पाटील, मंगला सुले, कविता गावंड, संतोष चव्हाण, सतीश मोडक, तुषार शिंदे के साथ अनेक पदाधिकारी व बड़ी संख्या में शिवसैनिकों ने भाग लिया था।

(ये भी पढ़िए- दिल्ली के रोहिणी में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 2.4 रही तीव्रता)

पिछले कुछ दिनों से पेट्रोल-डीजल व रसोई गैस के दाम आसमान छू रहे हैं, पेट्रोल का दाम तो 100 रुपए से अधिक प्रति लीटर हुआ है। इस महंगाई का निषेध करने के लिए आज आंदोलन किया गया। मोदी सरकार सत्ता पर आते ही अच्छे दिनों के सपने दिखाए और हकीकत महंगाई बढ़ाकर देश की जनता के साथ विश्वास घात किया है। ये मोदी सरकार नहीं तो ये महंगाई सरकार हैं, ऐसा शहरप्रमुख राजेश मोरे ने कहा।