कल्याण में किन्नरों के लिए बना महाराष्ट्र का पहला आश्रयगृह

आनंद शुक्ला
Ulhasnagar.
कल्याण में किन्नरों (transgenders) के लिए बना महाराष्ट्र का पहला आश्रयगृह बनाया गया है। ठाणे जिला में उल्हासनगर अंबरनाथ कल्याण क्षेत्र में सैंकड़ों किन्नरों के विकास के लिए कार्यरत संस्था किन्नर अस्मिता की तरफ महाराष्ट्र का पहला गरिमा गृह के नामसे किन्नर मित्रों के लिए आश्रयगृह का अनावरण 4 जून के दिन कल्याण पूर्व विधानसभा क्षेत्र विधायक गणपत गायकवाड़ की उपस्थिति में की गई। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय और राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा संस्थान और नेशनल एड्स कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन के संयुक्त उपक्रम से शुरू हुए इस आश्रयगृह में किन्नर मित्रों की शिक्षा, कामकाज, स्वास्थ्य विकास और कलाकौशल्य को विकसित करने का कार्य भी इस गरिमागृह में किया जाएगा।
कल्याण पूर्व स्थित मलंग रोड, द्वारली पाडा तमन्ना रेसीडेंसी के तीसरे माले पर उद्घाटन हुआ। इस गरिमागृह में कोई भी किन्नर मित्र आने से हिचकिचाएं नहीं, अपना घर समझें, यहां गरिमा के साथ सुरक्षित रहें और जीवनयापन करें। ऐसी गवाही किन्नर अस्मिता की पदाधिकारी नीता केणे और तमन्ना केणे द्वारा दी गई। किन्नरों के विकास के लिये सदैव कार्यरत रेखा ठाकुर मैडम के जन्मदिन के अवसर पर आश्रयगृह का अनावरण किया गया।