स्वर्गीय समाजसेवक दादा आहुजा का सपना हुआ साकार, डायलिसिस सेंटर खुला

आनंद शुक्ला

Ulhasnagar. उल्हासनगर के निष्काम समाजसेवक स्वर्गीय दादा पी एस आहुजा का सपना था उल्हासनगर में गरीबों के लिए एक डायलिसिस सेंटर खुले। उनका सपना सच हो गया। पीएस आहुजा के देहांत के एक महीने बाद ही जीवदया ट्रस्ट के संचालक रमेश दयारामाणी और उमनपा नगरसेवक धनंजय बोडारे के अथक प्रयासों से यह सपना साकार (dream came true)हुआ 5 जुन को जीवदया ट्रस्ट, सेक्शन 30, उल्हासनगर 4 में एक भव्य डायलिसिस सेंटर का उद्घाटन कल्याण लोकसभा सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे, उल्हासनगर विधायक कुमार अयलानी, उल्हासनगर की महापौर लीला ताई आशान, शिवसेना उपजिला प्रमुख चंद्रकांत बोडारे, नगरसेवक धनंजय बोडारे, शिवसेना शहर प्रमुख राजेंद्र चोधरी के हाथों हुआ। इस अवसर पर विट्ठलवाडी पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर कन्हैया थोरात, नगरसेवक आशान, उल्हासनगर व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदीश तेजवानी, जीवदया के संचालक दादा रमेश दयारामनी, समाजसेवक परमानंद गेरेजा, समाजसेवक प्रकाश तालरेजा, वीटीवी के संचालक दीपक वाटवानी, संदीप सुर्वे, स्वामी सर्वानंद अस्पताल के मोहन बलानी, रेडक्रॉस के नेवंदराम करीरा, डॉक्टर ललित चंदवानी, डॉक्टर हार्दिक शाह, इंदरलाल माखीजा, अनिल असरानी आदि उपस्थित थे।