5 सुपर फूड के सेवन से खुद को रखें स्‍वस्‍थ

आजकल सुपर फूड व वंडर फूड शब्द का चलन ज़ोरों पर है। यह सुपर फूड कोई नए प्रकार के फूड नहीं हैं, बल्कि ये हमारे आस-पास पाए जाने वाले फूड्स ही हैं, परंतु हम इनमें पाए जाने वाली ढेरों ख़ूबियों से अनजान हैं और इसी कारण आमतौर पर ये हमारे दैनिक आहार का हिस्सा नहीं बन पाते हैं। आज आर्युवेद के डॉक्‍टर महेश संघवी से जानते हैं 5 सुपर फूड के बारे में, ज‍िनसे हमारी सेहत बेहतर से बेहतरीन रहती है।

धीरज स‍िंह 
डॉक्‍टर संघवी बताते हैं क‍ि सुपर फूड उन प्राकृतिक भोज्य पदार्थों को कहते हैं, जिनमें पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, ये स्वास्थ्यवर्द्धक होते हैं और इनका स्वास्थ्य पर कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है। भाग-दौड़ के इस समय में अगर हमारा खान-पान सही है तो हम स्‍वस्‍थ हैं। आइए जानें ऐसे ही कुछ भोज्य पदार्थों के बारे में जो सुपर फूड की श्रेणी में आते हैं। 
सहजन (DRIMSTICK)

डॉक्‍टर संघवी बताते हैं क‍ि सहजन की पत्तियों, फलियों तथा फूल सभी का प्रयोग खाद्य पदार्थ के रूप में किया जा सकता है। यह सभी औषधीय गुणों से भरपूर है, इसी कारण सहजन को ‘मिरेकल ट्री’ कहा जाता है। इनका प्रयोग हृदय रोग, डायबिटीज, कैंसर व अनीमिया से बचाव व उपचार में किया जाता है। विशेष रूप से इसकी पत्तियों में प्रोटीन, सभी आवश्यक अमीनो एसिड, विटामिन सी, बीटा कैरोटिन पाया जाता है जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।
आंवला

डॉक्‍टर संघवी कहते हैं क‍ि आंवला अमृत के समान है। आंवला अपनी उच्च विटामिन सी की मात्रा के लिए जाना जाता है इसमें विटामिन सी के साथ-साथ कैल्शियम, फाइबर व कुछ अन्य कैमिकल तत्व गैलिक तथा एलैगिक एसिड पाए जाते हैं इस वजह से आंवला एक अच्छा एंटी-ऑक्सीडेंट है। आंवला में एंटी-एथीरोजेनिक, एंटी इंफ्लामेटरी गुण भी पाए जाते हैं, इसलिए आंवला कैंसर, डायबिटीज, हृदय तथा लीवर संबंधी रोगों के उपचार व बचाव में लाभकारी है। आंवला शरीर में आयरन का अवशोषण बढ़ाता है, इसलिए हीमोग्लोबिन निर्माण में सहायक है। आंवला एक नेचुरल इम्युनोबूस्टर है, यह हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।
बेरीस

सभी प्रकार की बेरीस जैसे स्ट्राबेरी, जामुन, शहतूत तथा क्रेनबेरी सभी में एंटीऑक्सीडेंट, फाइटो कैमिकल तथा विटामिन सी अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। इसी वजह से बेरीस हृदय रोग, कैंसर, डायबिटीज तथा अलजाइमर जैसे रोगों में लाभदायक है। इसके अलावा यह कोलेस्ट्रॉल तथा वज़न को नियंत्रित करने में फायदेमंद है। बेरीस स्वस्थ त्वचा व आंखों के लिए भी लाभकारी है।
अंजीर

सूखे अंजीर में फाइबर, विटामिन, आयरन, कैल्शियम, सोडियम, पोटेशियम तथा एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। ये क़ब्ज़, मोटापे, हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल, हृदय रोग, डायबिटीज, कोलोन व ब्रेस्ट कैंसर तथा अस्थमा आदि बीमारियों में लाभप्रद है तथा हड्डियों को मज़बूत बनाने में सहायक है।
मुनक्का

वे बताते हैं क‍ि मुनक्का एनर्जी का भंडार है। इसमें फाइबर, कैल्शियम तथा एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। यह कब्ज़, अनीमिया तथा बुख़ार में लाभकारी है। हड्डियों तथा हृदय के लिए फायदेमंद है। यह ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करने में सहायक है।

डॉक्‍टर महेश संघवी
आर्युवेद के एमडी हैं
मुंबई में नि‍वास