बढ़ी उत्पादन क्षमता: उत्तर प्रदेश में लग रहे 470 आक्सीजन प्लांट

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (वर्चुअल) और डिप्टी सीएम ने नैनी में किया आक्सीजन प्लांट का उद्घाटन, जनपद के बेली, काल्विन और महिला अस्पताल में की जाएगी सप्लाई

आलोक गुप्ता
Prayagraj.
सेंट्रल मिनिस्टर नितिन गडकरी (Central Minister Nitin Gadkari) की वर्चुअल उपस्थिति में डिप्टी सीएम केशवप्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshavprasad Maurya) ने हाईटेक सिटी नैनी में आक्सीजन प्लांट का उद्घाटन किया। प्रभाव्य इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड (Prabhavya Industries Private Limited) द्वारा हाईटेक सिटी नैनी में इस आक्सीजन प्लांट का निर्माण 15.76 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है।

आक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) के शुभारंभ मौके पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पहले कोविडकाल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आशीर्वाद ने संभाला। जबकि कोविड की दूसरी लहर में सबने मिलकर कोरोना लहर का सामना किया। इसके अलावा तीसरी लहर से मुकाबला करने के लिए योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में उत्तर प्रदेश तैयार है।

उन्होंने बताया कि नव उद्घाटित प्लांट में प्रतिदिन 1100 से 1500 सिलेंडर ऑक्सीजन देने की क्षमता है। यहां से निर्मित ऑक्सीजन काल्विन, बेली तथा डफरिन को आजीवन निशुल्क सप्लाई की जाएगी। प्रभाव्य इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड में लगभग 1100 से 1500 सिलेंडर प्रतिदिन आक्सीजन उत्पादन लक्ष्य है।

केशवप्रसाद मौर्य ने किया निर्माणाधीन फ्लाईओवर का निरीक्षण
डिप्टी सीएम ने बताया कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार 416 ऑक्सीजन प्लांट लगवा रही थी। जबकि पहले यूपी में केवल 25 प्लांट थे। इसमें पीएम केयर-वन से 14, पीएम केयर-टू से 23, राज्य से वित्त से 64, गन्ना-आबकारी विभाग से 80, सांसद-विधायक निधि से 90 के अलावा सीएसआर मद और कई बड़ी कंपनियों के सहयोग से पूरे प्रदेश में आक्सीजन प्लांट का जाल बिछाया जा रहा है। इसके अलावा एमएसएमई विभाग ने 54 ऑक्सीजन प्लांट को स्वीकृति प्रदान की है।
उद्घाटन के उपरांत उप मुख्यमंत्री केशवप्रसाद मौर्य ने बक्सी बांध पर निर्माणाधीन रेल फ्लाईओवर का निरीक्षण भी किया और मातहत अफसरों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। यहां के बाद डिप्टी सीएम सरकिट हाउस में विभागीय अफसरों संग बैठक भी करेंगे। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के अलावा प्रयागराज के प्रभारी मंत्री महेंद्र सिंह भी आनलाइन जुड़े रहे।