घोर अन्याय: लेवल-1 जैसे पॉजिटिविटी और ऑक्सीजन आक्यूपेंसी दर रखने वाले भिवंडी को अनलाक बाबत लेवल-3 की सुविधाएं

मुनीर अहमद मोमिन

Bhiwandi.  ठाणे जिला प्रशासन द्वारा आज 7 जून से अगले आदेश तक जारी तीसरे स्तर के प्रतिबंध में भिवंडी शहर (In the third level ban issued by Thane district administration) के साथ लालफीताशाही के कारण घोर अन्याय और सौतेला व्यवहार हुआ है। क्योंकि राज्य सरकार द्वारा कोविड के मरीजों के मापदंड के मुताबिक आज सोमवार से 5 चरणों में शुरू होने वाली अनलॉक प्रक्रिया में भिवंडी को लेवल 3 में रखने के कारण लाकडाउन की प्रथम और द्वितीय स्तर की मिलने वाली छूट से भिवंडी को जबरन वंचित रखा गया है।      

  मालूम हो सरकार द्वारा अनलॉक के संदर्भ में बनाए गए मापदंड के मुताबिक़ भिवंडी शहर का कोरोना पॉजिटिविटी दर 2.5% और ऑक्सीजन आक्यूपेंसी लगभग 10.5 फीसदी रहने के बावजूद भिवंडी को मीरा भाईंदर, उल्हासनगर, अंबरनाथ, कुलगाँव-बदलापुर, शाहपुर और मुरबाड आदि के साथ मिलाकर औसत निकालने के बाद यहां का 2.5% के बदले 8.33% पॉजिटिविटी रेट और 10.5% के बदले 23.80% ऑक्सीजन आक्यूपेंसी मानते हुए भिवंडी शहर को जबरिया लेवल 3 में रखा गया है। जबकि इससे ज्यादा पॉजिटिविटी और ऑक्सीजन आक्यूपेंसी वाले ठाणे और नवी मुंबई को लेवल 2 में रखा गया है। यह भिवंडी शहर के साथ सरासर घोर अन्याय है। क्योंकि लेवल 1 की बजाय लेवल 3 में रहने के कारण भिवंडी शहर में लेवल 3 स्तर की ही छूट दी गई है।  

      जिसके मुताबिक़ अब यहां ब्रेक द चेन के तहत (According to which, now under Break the Chain) आज 7 जून की सुबह 7 बजे से लेवल 3 के नियम लागू हो जाएंगे। जिसके तहत आज से भिवंडी में पूर्ववत नाइट कर्फ्यू शाम 5 बजे से रात में कायम रहेगी। तथा सुबह से शाम 5 बजे तक धारा 144 लागू रहेगी। यानी इसमें कोई बदलाव नहीं है। सभी दुकानें और संस्थान सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक खुले रहेंगे। अत्यावश्यक सेवाओं को छोड़ कर बाकी सभी दुकानें और संस्थान शनिवार और रविवार को बंद रहेंगे। रेस्टॉरेंट शाम 4 बजे तक 50 फीसदी की क्षमता से खुले रहेंगे। लेकिन शाम 4 बजे के बाद सिर्फ पार्सल सेवाएं शुरू रहेंगी।    

    इसी तरह गार्डन, मैदान, साइकिलिंग और मॉर्निंग वॉक सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक शुरू रहेगा। जबकि केवल मैदान में खेल कूद के लिए सुबह 5 बजे से 9 बजे तक और शाम को 6 बजे से 9 बजे तक की छूट दी गई। इसी तरह सरकारी और पूर्वानुमति वाले निजी कार्यालयों को 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ खोलने की छूट दी गई है। जबकि निर्यात व्यापार से जुड़े छोटे और मझोले उद्योग, अत्यावश्यक सेवाओं और सुरक्षा से संबंधित उद्योग पूरी क्षमता से काम करेंगे। इसके अलावा अन्य उद्योगों को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ शुरू रखने की इजाजत दी गई है। जिनमे काम करने वाले लोगों को आने-जाने का प्रबंध खुद करना होगा। इसी तरह सामाजिक, सांस्कृतिक और मनोरंजन कार्यक्रमों की भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ केवल सोमवार से शुक्रवार शाम 4 बजे तक की अनुमति दी गई है।    

( ये भी पढ़े – कोरोना की दूसरी लहर में युवाओं ने बड़ों को दिखाई राह )  

इसी तरह शादी-विवाह विवाह के लिए 50 लोगों और अंतिम संस्कार में 20 लोगों तक शामिल (50 people have been allowed to attend weddings and last rites up to 20 people) होने की इजाजत दी गई है। इसी तरह निर्माण कार्य सहित ई कॉमर्स की सारी सेवाएं शुरू रहेंगी। व्यायामशाला, सैलून, ब्यूटी पार्लर, स्पा, वेलनेस सेंटर भी बिना एसी मशीनरी के 50 प्रतिशत क्षमता के साथ शाम 4 बजे तक शुरू रहेंगे। इसी तरह सार्वजनिक परिवहन सेवा भी सौ फ़ीसदी बैठक के साथ शुरू रहेगी। लेकिन यात्रियों को खड़ा होकर सफर करने की मनाही है। इसी तरह मालवाहक वाहनों में भी ज्यादा से ज्यादा तीन व्यक्ति ड्राइवर, हेल्पर और सफाई कर्मी अथवा अन्य के साथ शुरू रहेगा। इसी तरह निजी कार, टैक्सी और बस आदि से लंबे सफर अथवा जिला से बाहर सफर के लिए ई पास बंधन कारक रखा गया है। जिल्हाधिकारी राजेश नार्वेकर द्वारा छूट बाबत जारी निर्देश में उक्त सभी नियमों का पालन करना आवश्यक बताया गया है। इन नियमों का अनुपालन न करने वालों के खिलाफ कोविड के प्रचलित नियमों के तहत कार्रवाई की भी चेता