बजाज फाइनेंस के नाम पर फर्जी काल सेंटर चलाने वाले गिरोह का पर्दाफाश

सेंटर का संचालक और मैनेजर गिरफ्तार

कल्याण क्राइम और नांदेड़ पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में हुआ खुलासा
एसएन दुबे

kalyan. बजाज फाइनेंस कंपनी के नाम पर फर्जी काल सेंटर चलाने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश करते हुए कल्याण क्राइम ब्रांच ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में कॉल सेंटर स्थापित करने वाला दिनेश मनोहर चिंचकर और सेंटर का मैनेजर रोहित पांडुरंग शेरकर नामक व्यक्ति शामिल है। क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सन्जू जॉन ने बताया कि यह गिरोह लोन देने के नाम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी करता था। महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में एक मुकदमा दर्ज था जिसमें इन लोगों ने लोन दिलाने के नाम पर ठगी किया था। एटीएस नांदेड़ की महिला सहायक पुलिस निरीक्षक अनिता चव्हाण इस मामले की जांच कर रही थीं। जांच में पता चला कि उक्त मोबाइल नम्बर डोंबिवली से आपरेट किया गया है। नांदेड़ की इतवारा पुलिस ने कल्याण क्राइम ब्रांच से संपर्क किया और क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सन्जू जॉन के नेतृत्व में डोंबिवली के पेंढारकर कॉलेज के पास सिटी मॉल में छापा मारकर फर्जी कॉल सेंटर के मुख्य 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लाखो रुपए का सामान और डेटा जप्त किया गया। बताया जाता है कि इस फर्जी कॉल सेंटर में 18 से 20 लोगों को नौकरी पर रखा गया था, और बजाज फाइनेंस कंपनी के माध्यम से लोन दिलाने के नाम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी की जा रही थी।