टिकट परीक्षक के रूप में फर्जीवाड़ा करने वाला पकड़ा गया

आईजीआर संवाददाता
Mumbai
. 18 जुलाई, 2021 को ट्रेन नंबर 09040 अवध एक्सप्रेस में आरपीएफ एस्कॉर्ट टीम द्वारा टिकट परीक्षक के रूप में एक धोखेबाज को पकड़ा गया। आरपीएफ की टीम सूरत से बांद्रा टर्मिनस तक ट्रेन को एस्कॉर्ट कर रही थी (RPF team was escorting the train from Surat to Bandra Terminus) ।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुमित ठाकुर से मिली जानकारी के अनुसार अवध एक्सप्रेस जैसे ही सूरत स्टेशन से रवाना हुई, बी1 डिब्बे में हंगामा मच गया। अहमद – हेड कांस्टेबल, एस्कॉर्ट इंचार्ज सागर याजगर के साथ इस ट्रेन में जांच करने गए थे। कोच कंडक्टर अरविंद कुमार से बात करने पर पता चला कि एक व्यक्ति यात्रियों का टिकट चेक कर रहा था। आगे की पूछताछ पर, व्यक्ति ने अपने आप को आदित्य टीटीई होने का दावा किया, जो गलत साबित हुआ। आरोपी को आगे की कार्रवाई के लिए वलसाड स्थित आरपीएफ चौकी को सौंप दिया गया है। इस जालसाज़ के पास से टीटीई की एक पुरानी एफआईआर कॉपी-सीटीआई बांद्रा टर्मिनस, शिकायत पुस्तिका और एक पुराना बोर्डिंग चार्ट पेपर मिला है। चूंकि उक्त घटना जीआरपी सूरत के अधिकार क्षेत्र में हुई है, इसलिए आरपीएफ ने धोखेबाज आदित्य को सूरत में जीआरपी को सौंप दिया, जिस पर आगे की जांच के लिए धारा 170 के तहत मामला दर्ज किया गया है।