FDA ने जब्त की कोरोना की नकली दवाई

आईजीआर संवाददाता

मुंबई. एफडीए fda बड़ी सफलता हास‍िल करते हुए कोरोना इलाज में इस्‍तेमाल होने वाली एक करोड़ 54 लाख की फर्जी फेविपिरावीर टैब और हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन जब्‍त क‍िया है। इतने बड़े पैमाने पर कोरोना की नकली दवाई बरामद होने से प्रशासन के होश उड गए हैं।

गौरतलब है क‍ि कोरोना काल में जहां एक तरफ लोगों का जीवन कठ‍िन हो गया है, वहीं दूसरी ओर कुछ लोग अपने फायदे के ल‍िए नकली दवाइयों का व्‍यापार कर रहे हैं। उन्‍हें लोगों की जान की कोई परवाह नहीं द‍िखती। ऐसे में एफडीए ने इन लोगों पर लगाम लगाने की तैयारी शुरू की है। इसी क्रम में मंगलवार को मुंबई के कई मेडिकल स्टोरों पर पुलिस ने छापेमारी कर नकली दवाइयां बरामद की। एक करोड़ 54 लाख की फर्जी फेविपिरावीर टैब और हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन म‍िलने से हंगाम मचा हुआ है। अब प्रशासन तलाश रहा है क‍ि इस पूरे मामले के पीछे किसका हाथ है। नकली दवा कहां से आईं, और इसका निर्माता और कौन है, इस मामले में कार्यवाई जारी है।