मई में निर्यात उछलकर 32.21 अरब डॉलर, व्‍यापार घाटा बढ़कर 6.32 अरब डॉलर

देश का निर्यात मई महीने में 67.39 फीसदी उछलकर 32.21 अरब अमेरिकी डॉलर
New Delhi.
औद्योगिक गतिविधियां शुरू होने और विदेशी बाजारों (commencement of industrial activities and demand in foreign markets) में मांग आने से निर्यात के र्मोचे पर अच्‍छी खबर है। वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय के बुधवार को जारी शुरुआती आंकड़ों के अनुसार देश का निर्यात मई, 2021 में 67.39 फीसदी बढ़कर 32.21 अरब डॉलर पर पहुंच गया है। 

( ये भी पढ़िए – देश भर में कोरोना की दूसरी लहर में 594 डॉक्टर्स की हुई मौतः आईएमए )

वाणिज्य मंत्रालय के प्रारंभिक आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान इंजीनियरिंग, दवा, पेट्रोलियम उत्पादों और रसायनों के निर्यात में खासतौर से तेजी देखी गई। गौरतलब है कि पिछले साल मई में निर्यात 19.24 अरब डॉलर, जबकि मई, 2019 में यह 29.85 अरब डालर था।मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मई, 2021 में आयात 68.54 फीसदी बढ़कर 38.53 अरब डॉलर हो गया है, जो मई, 2020 में 22.86 अरब डॉलर और मई 2019 में 46.68 अरब डॉलर रहा था। वाणिज्‍य मंत्रालय के मुताबिक इस तरह मई, 2021 में 6.32 अरब डॉलर के व्यापार घाटे के साथ भारत एक शुद्ध आयातक है। मई, 2020 में व्यापार घाटा 3.62 अरब डॉलर रहा था। देश के व्यापार घाटे में मई, 2020 के मुकाबले 74.69 फीसदी की वृद्धि हुई।

इसके अलावा समीक्षाधीन महीने में तेल का आयात बढ़कर 9.45 अरब डॉलर हो गया, जबकि मई, 2020 में यह 3.57 अरब डॉलर था। इस साल अप्रैल-मई के दौरान निर्यात बढ़कर 62.84 अरब डॉलर हो गया, जो पिछले साल की समान अवधि में 29.6 अरब डॉलर और अप्रैल-मई 2019 में 55.88 अरब डॉलर था