पुरस्कार के लिए 15 जुलाई तक आवेदन करें दिव्यांगजन

राष्ट्रीय व राज्य स्तर पर 12 श्रेणियों में किया जाएगा पुरस्कृत

संजय सिंह
Bhadoli.
दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग विंध्याचल मंडल के उपनिदेशक एमपी सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार एवं भारत सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ष तीन दिसंबर विश्व दिव्यांगता दिवस के अवसर पर दिव्यांगजन व्यक्तियों एवं दिव्यांगता के क्षेत्र में कार्यरत स्वैच्छिक संस्थाओं/ सेवायोजकों को निम्नलिखित श्रेणी में उत्कृष्ट कार्य करने पर राज्य स्तरीय/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार कुल 12 श्रेणियों में दिया जाना है।

डिप्टी डायरेक्टर एमपी सिंह ने बताया कि राज्य पुरस्कार से संबंधित विस्तृत जानकारी और आवेदन पत्रों का निर्धारित प्रारूप विभाग की वेबसाइट द्धह्लह्लश्च://ह्वश्चद्ध2स्र.द्दश1.द्बठ्ठ पर उपलब्ध है। उक्त पुरस्कार के लिए इच्छुक पात्र दिव्यांग व्यक्तियों/ दिव्यांगता के क्षेत्र में कार्यरत स्वैच्छिक संगठनों/ संस्थाओं एवं सेवायोजकों को बाखबर किया जाता है कि वह सभी लोग अपने-अपने जनपद में आवेदन पत्र की समस्त औपचारिकता पूर्ण कर तीन प्रतियों में जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी कार्यालय में यथाशीघ्र जमा कराएं।

बताया कि आवेदन जमा करने के बाद जनपद स्तर से नियमानुसार अग्रिम कार्यवाही कर पत्रावली निदेशालय को प्रेषित की जाएगी। जनपदों में आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि 15 जुलाई है। इसके बाद मिले आवेदनों पर कोई विचार नहीं किया जाएगा।

इन श्रेणियों में दिया जाएगा पुरस्कार
दक्ष दिव्यांग कर्मचारी/ स्वनियोजित दिव्यांगजन के लिए राज्य/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार। सर्वश्रेष्ठ नियोक्ता, सर्वश्रेष्ठ प्लेसमेंट अधिकारी या एजेंसी के लिए सेवायोजकों को राज्य/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार। दिव्यांगजन के निमित्त कार्यरत सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति तथा सर्वश्रेष्ठ संस्था का पुरस्कार। प्रेरणास्रोत के लिए राज्य/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार। जीवन सुधारने के निमित्त सर्वश्रेष्ठ नवीन अनुसंधान या उत्पाद विकास पुरस्कार। दिव्यांगजन हेतु बाधा मुक्त वातावरण के सृजन का पुरस्कार। दिव्यांगजन को पुनर्वास सेवा प्रदान करने वाले सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए राज्य/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार। सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग वयस्क व्यक्तियों एवं सर्वश्रेष्ठ बालक/ बालिका के लिए राज्य/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार। सर्वश्रेष्ठ ब्रेल प्रेस के लिए राज्य/ राष्ट्रीय पुरस्कार। दिव्यांगजन के लिए सर्वोत्तम अनुकल वेबसाइट हेतु राज्य/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार। सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के लिए राज्य/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार। दिव्यांगजन के सशक्तिकरण हेतु कार्यरत अधिकारी/ कर्मचारी के लिए राज्य/ राष्ट्रीय स्तरीय पुरस्कार।