मानव श्रृंखला बनाकर नवी मुंबई एयरपोर्ट को दिबा पाटिल नाम देने की मांग

पुरुषोत्तम कनौजिया
नवी मुंबई.
नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को स्वर्गीय दिबा पाटिल का नाम दिलाने के लिए नवी मुंबईकरों ने आज कृति समिति के नेतृत्व में बेलापुर से दिघा तक मानव श्रृंखला (human chain) बनाकर प्रदर्शन किया। इस अवसर पर तलावली गांव में प्रदर्शन या नेतृत्व कर रहे महाराष्ट्र विधान परिषद सदस्य रमेश पटेल ने कहा कि जहां हवाई अड्डा बन रहा है वह नवी मुंबई और रायगढ़ के प्रकल्प ग्रस्तों की जगह है इसलिए हवाई अड्डे को हमारे नेता का ही नाम दिया जाना चाहिए। दिबा पाटिल ने अपने पूरे जीवन में हमारे लिए संघर्ष किया था तब जाकर हमें हमारा अधिकार मिला है और आज हम यहां सुकून से रह पा रहे हैं। इसलिए अब हम उनके लिए संघर्ष करेंगे और जब तक हमें सफलता नहीं मिल जाती इसी तरह विरोध करते रहेंगे।

वहीं रबाले में आंदोलन का नेतृत्व कर रहे पूर्व नगरसेवक घनश्याम माड़वी ने कहा कि सरकार अहंकार में चूर है और वो जनमत को दबाना चाह रही है। यहां के स्थानीय लोग एकजुट होकर दिबा पाटिल के नाम की मांग कर रहे हैं और लगभग सभी दल एकसाथ हैं इसके बावजूद सरकार हमारी बात नहीं सुन रही है। अगर अगले 10 दिनों में सरकार ने हमारी मांग नहीं मानी, तो हम 24 जून को सिडको कार्यालय का घेराव करेंगे और यदि तब भी नहीं मानी तो हम यहां से आजाद मैदान तक पैदल मार्च करते हुए जाएंगे और हम अपना अधिकार लेकर ही रहेंगे।


इस प्रदर्शन में कांग्रेस के कार्यकर्ता भी शामिल हुए थे। कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शनकारियों को पानी, बिस्कुट और नाश्ते के पैकेट बांटते दिखे। जबकि कुछ दिन पहले जब शिवसेना ने एक प्रेस वार्ता रखी थी, उसमें भी कांग्रेस के नेता मौजूद थे और वहां उन लोगों ने नवी मुंबई एयरपोर्ट को बालासाहेब ठाकरे का नाम देने की मांग की थी।