बच्चों को मिले मुफ्त शिक्षा और परिवार के एक सदस्य को रेलवे में नौकरी – शिवसेना

Dombivli. 30 मई रविवार को सायंकाल 7 बजे के आसपास कलवा-मुंब्रा (kalwa- mumbra) के बीच में लोकल ट्रेन में यात्रा कर रहीं डोंबिवली की निवासी विद्या ज्ञानेश्वर पाटिल की चोर के द्वारा मोबाइल छीनने के दौरान मृत्यु हो गई थी, विद्या पाटिल एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करती थी, उनकी 3 छोटी -छोटी बेटियों के सिर से माँ का साया उठ गया हैं।

( ये भी पढ़िए -दूसरी स्वदेशी वैक्सीन के लिए बायोलॉजिकल ई के साथ स्वास्थ्य मंत्रालय का करार)

सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे (Dr. Shrikant Shinde) के आदेश पर शहरप्रमुख राजेश मोरे के नेतृत्व में शिवसेना शिष्टमंडल ने मृतक विद्या पाटील के परिवार से मिलकर आर्थिक मदद की। साथही शहरप्रमुख मोरे ने मॉडल स्कूल प्रशासन से फोन पर बात करके विद्या पाटील के दोनों बच्चों की दसवीं तक पढ़ाई निःशुल्क करने की मांग की। मृतक विद्या पाटील के परिवार के एक सदस्य को रेलवे विभाग में नौकरी देने की मांग की हैं, इसके लिए सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे के माध्यम से रेलमंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) को पत्र भेजा जाएगा, ऐसी जानकारी शहरप्रमुख मोरे ने दी। इस समय शहर प्रमुख राजेश मोरे, पूर्व नगरसेवक संजय पावशे, बाला म्हात्रे, प्रताप पाटील, अस्मिता खानविलकर, केतकी पवार आदि शिवसैनिक उपस्थित थे।