मृतक विद्या पाटील की दोनो बेटियों को मुफ्त शिक्षा मिले-शिवसेना की मांग

स्कूल प्रशासन का सकारात्मक प्रतिसाद
आईजीआर संवाददाता

Dombivli. 30 मई को कलवा-मुंब्रा (Kalwa-Mumbra) के बीच में लोकल ट्रेन में यात्रा कर रहीं डोंबिवली की निवासी विद्या ज्ञानेश्वर पाटिल की चोर के द्वारा मोबाइल छीनने के दौरान मृत्यु हो गई थी, विद्या पाटिल एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करती थी, उनकी 3 छोटी छोटी बेटियों के सिर से माँ का उठ गया हैं। विद्या पाटील (Vidya patil) के जाने से परिवार व उनकी बेटियां अकेली पड़ गई साथही परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। घटना के बाद अनेक संगठन की ओर से विद्या पाटील के परिवार को मदद मिल रही हैं।

विद्या पाटील की दोनो बेटियों को दसवीं कक्षा तक कि पढ़ाई मुफ्त देने की मांग शिवसेना ने की है। इसके लिए सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे के आदेश पर शिवसेना शहरप्रमुख राजेश मोरे व अन्य पदाधिकारियों ने मॉडल स्कूल के प्रिंसिपल डॉ. रवींद्र बांबर्डेकर (principal Dr. Ravindra Bambardekar) से मुलाकात की और एक निवेदन पत्र दिया। मॉडेल कॉलेज सदाशिव नायर और डॉ. रवींद्र बांबर्डेकर ने कहा कि विद्या पाटील के दोनों बेटियों को ( पूर्वा व मेधा ) को 10 कक्षा तक सभी पढ़ाई मुफ्त देकर उन्हें उचित सहयोग दिया जाएगा, ऐसा सकारात्मक प्रतिसाद स्कूल प्रशासन की ओर से दिया है।

( ये भी पढ़े- नई रिसर्च का दावा, कोरोना से संक्रमित हो चुके लोगों को टीके लगाने की आवश्यकता नहीं )

इस मौके पर शहरप्रमुख राजेश मोरे, पूर्व नगरसेवक संजय पावशे, किशोर मानकामे, भैय्या (सुधीर ) पाटील, संतोष चव्हाण, सतीश मोडक, संतोष चव्हाण, महिला संघटक कविता गावंड, मंगला सुले, किरण मोंडकर आदि शिवसैनिक उपस्थित थे।