पेट्रोलियम पदार्थों और रसोई गैस के दामों में वृद्धि सहित बढ़ती महंगाई के खिलाफ भिवंडी कांग्रेस ने किया आंदोलन

मुनीर अहमद मोमिन

भिवंडी. दिन-ब-दिन डीजल, पेट्रोल और घरेलू गैस की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि सहित बढ़ती महंगाई के खिलाफ भिवंडी कांग्रेस के अध्यक्ष एडवोकेट रशीद ताहिर मोमिन के नेतृत्व में आज सोमवार को यहां तीव्र आंदोलन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में कांग्रेसी नेता सहित आम नागरिकों ने भी भाग लिया। पेट्रोलियम पदार्थों की लगातार वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ता काफी उग्र दिखे। उनके हाथों में सरकार विरोधी नारे तख्तियां भी थीं। प्रदर्शनकारियों ने “मोदी तूने क्या किया, देश का सत्यानाश किया। मोदी सरकार हाय-हाय, मोदी सरकार मुर्दाबाद। मोदी सरकार शर्म करो, पेट्रोल-डीजल और गैस के दाम कम करो” आदि की नारेबाजी करते हुए मोदी सरकार को पूंजीपतियों की सरकार बताते हुए उसकी जमकर भर्त्सना की।
इस मौके पर बोलते हुए भिवंडी शहर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष रशीद ताहिर मोमिन ने कहा कि जब से केंद्र में मोदी सरकार आई है। आम आदमी का जीना दूभर हो गया है। लोगों पर सरकारी अत्याचारों का ग्राफ लगातार तेजी से बढ़ता जा रहा है। जहां पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतें आसमान छू रही हैं। वहीं कोरोना संकट के कारण लाखों लोगों की नौकरी चली गई है। महंगाई और बेरोजगारी की मार से मजदूर वर्ग सहित मध्यम वर्ग का भी जीना मुश्किल हो गया है। ऐसे संकट के समय में भी मोदी सरकार ने महंगाई और पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाकर लूट मचा रखी है। रशीद ताहिर मोमिन ने मोदी सरकार को पूंजीपतियों की सरकार बताते हुए कहा कि ये सरकार आम लोगों की सरकार नहीं बल्कि मुट्ठी भर पूंजीपतियों की सरकार है जो केवल उनके फायदे के लिए काम कर रही है।

वादा खिलाफ़ी कर रही है बीजेपी

भिवंडी कांग्रेसाध्यक्ष मोमिन ने आगे कहा कि कच्चे तेल की कीमतें अपने निम्नतम स्तर पर हैं। जिसके अनुसार पेट्रोल और डीजल की कीमतें 50 रुपए से भी कम होनी चाहिए। लेकिन पेट्रोल के दाम 100 रूपए से भी ज्यादा हो गया है। जबकि सत्ता में आने से पहले भाजपा ने पेट्रोल और डीजल की कीमतें कम करने का वादा किया था। लेकिन उसने आम लोगों को छलते हुए वादा खिलाफी की है। उन्होंने सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि क्या लोगों ने भाजपा को अपनी जेब काटने के लिए सत्ता सौंपते हुए दिल्ली की गद्दी पर बिठाया था। कांग्रेस अध्यक्ष ने केंद्र सरकार को 31 दिसंबर तक का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि उक्त समय सीमा तक यदि सरकार ने देश भर में टीकाकरण की प्रक्रिया पूरी नहीं की और इस दौरान देश की बदहाली को नियंत्रित नहीं किया तो कांग्रेस सड़कों पर उतरकर तब तक पुरजोर विरोध करेगी। जब तक सरकार बदल नहीं जाती।

इस विरोध प्रदर्शन में नगरसेवक परवेज मोमिन, फ़राज़ बहाउद्दीन (बाबा), शाफ़ मोमिन, शकील (पापा), सिराज ताहिर मोमिन, रुखसाना कुरैशी, सलाम शेख, अर्शी आजमी, शाहिद सिद्दीकी, सिकंदर नदाफ, आबिद मनसब, आमिर खान (बाबुल), अनंत पाटिल, मुन्ना अंसारी, शहरयाज मोमिन, मोहम्मद हुसैन, साजिद अंसारी, अशरफ मुन्ना, हाशिम नोमान खान, जावेद पेंटर, मुजाहिद, नसीम, शोएब इंजीनियर, शमीम कुरैशी, अखलाक खान, इस्माइल और मुजीब आदि सहित बड़ी तादाद में कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ-साथ आम जन भी मौजूद रहे।