कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने को रहें तैयार: रीता जोशी

डोर-टू-डोर सर्वे में तेजी लाने के साथ ही स्वास्थ्य को पूरी तरह से तैयार रहने का आदेश

आलोक गुप्ता
Prayagraj.
कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर आज संगम सभागार में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। अध्यक्षता करते हुए सांसद रीता बहुगुणा जोशी (MP Rita Bahuguna Joshi) ने चिकित्सा/उपचार से संबंधित सभी प्रकार की तैयारियों की विस्तार से जानकारी ली।

सांसद ने ऑक्सीजन प्लांट, मेडिकल किट, वेंटीलेटर, पैरामेडिकल स्टाफ, वेलनेस सेंटर, एंबुलेंस सेवा, रेमेडिसिवर एवं ब्लैक फंगस के इलाज में प्रयुक्त होने वाली दवाओं की जानकारी ली। इसके अलावा टीकाकरण, निगरानी समितियों के कार्यों की समीक्षा की।

सांसद ने डोर-टू-डोर सर्वे में और तेजी लाने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे कार्य में लक्षणयुक्त लोग चिन्हित किए जाएं, उनको तत्काल मेडिकल किट प्रदान करते हुए नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रोंपर उनकी कोविड-19 की जांच अनिवार्य रूप से कराना सुनिश्चित करें। इसके अलावा कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को पूरी तैयारी कर ली जाए।

क्लस्टर बनाकर बनाई जा रही सूची
जिलाधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी (DM Bhanuchandra Goswami) ने बताया कि 20-20 गांवों का क्लस्टर बनाकर निगरानी समितियों के माध्यम से सूची तैयार की जा रही है। उन्होंने सभी प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर सभी आवश्यक व्यवस्थाएं चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश दिया। उन्होंने सभी निर्माणाधीन ऑक्सीजन गैस प्लांटों के निर्माण कार्य को शीघ्रता से पूर्ण कराने का निर्देश दिया है। डीएम ने प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर जांच, कार्यवाही नियमित रूप से करते रहने का निर्देश दिया है।

जिलाधिकारी ने बताया कि कोविड-19 में 32 एंबुलेंस लगाई गई हैं। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई एवं सेनिटाइजेशन का कार्य अभियान के रूप में चलाने के लिए कहा है। सांसद ने रेन हार्वेस्टिंग कार्यक्रम को प्रभावी ढंग से क्रियान्वित करते हुए जल संचयन के कार्य को वरीयता पर कराने के लिए कहा है। इसके अलावा सांसद ने अनाथ बच्चों की परवरिश एवं बाल संरक्षण गृह के संचालन की स्थिति के बारे में जानकारी ली। बैठक में सीडीओ शिपू गिरि, सीएमओ डा. प्रभाकर राय भी मौजूद रहे।