अंबरनाथ में नहीं हुई नाला सफाई, बारिश में जल जमाव की आशंका

आनंद शुक्ला

अंबरनाथ. अंबरनाथ में नाला सफाई नहीं होने से बारिश में जल जमाव की आशंका बनी हुई है। मानसून से पहले बरसात के पानी की निकासी करने वाले छोटे-बड़े नाले, नालियों की नगरपालिका द्वारा जून का महिना शुरू होने से पहले साफ-सफाई किए जाते रहे हैं, लेकिन 2 जून बीत जाने के बावजूद नालों की सफाई का काम शुरू नहीं हुआ है। जबकि दो दिन से शाम के समय शहर में बरसात भी हो रही है। यही हाल उल्हासनगर का भी है, जहां पर शहर की नालियां कचरों से भरी पड़ी हैं।
अंबरनाथ नगरपालिका क्षेत्र में ऐसे कई इलाके हैं जहां मात्र दो दिन लगातार बरसात होने पर परिसर में जल जमाव हो जाता है। स्टेशन रोड, डीएमसी रोड, बांगड़ी गली, छत्रपति शिवाजी भाजी मार्केट, केबी रोड, विमको नाका, नेताजी मार्केट, स्वामीनगर, गांधीनगर, शास्त्रीनगर, बी केबिन रोड के सेंकडों घरों में पानी घुस जाता है। जिससे नागरिकों के घरों और निचले क्षेत्रों की बस्तियों में जो दुकानें हैं उनमें पानी भर जाने से लाखों का नुकसान होता है। शहर के पूर्व में रिलायंस एरिया है वहां भी कुछ सड़कें हैं जहां जलजमाव होता है। इस नई बस्ती के लोगों को अधिक बरसात होने पर रास्ते पर चलना मुश्किल हो जाता है।
गौरतलब हो कि 1994 में अंबरनाथ नगरपालिका की पुनर्रचना होकर उसके एक साल बाद यानी 1995 में नगरपालिका के आम चुनाव हुए थे और तब तकरीबन 20 साल बाद नगरपालिका का जनप्रतिनियों ने कामकाज संभाला उसी समय से मानसून प्रारंभ होने से पहले या फिर जून के प्रथम सप्ताह में नालों का सफाई का कार्य पूरा हो जाता था, लेकिन कोरोना के कारण विगत एक साल से नगरपालिका के चुनाव नहीं हुए है। पिछले साल ही नगरपालिका के नगरसेवकों का कार्यकाल समाप्त हो चुका है। वर्तमान समय में नपा का कामकाज प्रशासक–मुख्याधिकारी की देखरेख में चल रहा है और यह जिम्मेदारी डॉ. प्रशांत रसाल के पास है।
अंबरनाथ नगरपालिका स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सुरेश पाटिल से जब नालों की सफाई का काम अब तक शुरू न होने के संदर्भ में बात की तो उन्होंने बताया कि तकनीकी कारणों से टेंडर की प्रक्रिया में कुछ देरी हुई है। नगरपालिका अधिकारी सुरेश पाटिल ने कहा कि बुधवार देर शाम तक या फिर गुरुवार को टेंडर की औपचारिता पूरी हो जाएगी। फिर तत्काल काम शुरू करा दिया जाएगा।