संक्रमण की दर कम होने पर गूंजीं रामचरित मानस की चौपाइयां

संजय सिंह
Bhadohi.
कोरोना संक्रमण की दर कम होने पर पूजा-पाठ का दौर जारी है। इसी क्रम में जंगीगंज बाजार में स्थित पंडित केसी मिश्र क्लॉसेज के बैनर तले अखंड रामचरित मानस (Akhand Ramcharit Manas) का पाठ करवाया गया। रामायण के पाठ में अलग-अलग क्षेत्रों से आए कलाकारों ने संगीतमय तरीके से रामायण का पाठ किया।

इस आयोजन में क्षेत्रीय लोगों ने भी बढ़-चढक़र सहभागिता की। क्लॉसेज के डायरेक्टर अनूप कुमार मिश्र ने कहा कि जब हम शिक्षा शब्द के प्रयोग को देखते हैं तो मोटे तौर पर यह दो रूपों में प्रयोग में लाया जाता है, व्यापक अथवा संकुचित रूप में। व्यापक अर्थ में शिक्षा किसी समाज में सदैव चलने वाली सोद्देश्य सामाजिक प्रक्रिया है, जिसके द्वारा मनुष्य की जन्मजात शक्तियों का विकास, उसके ज्ञान एवं कौशल में वृद्धि एवं व्यवहार में परिवर्तन किया जाता है और इस प्रकार उसे सभ्य, सुसंस्कृत एवं योग्य नागरिक बनाया जाता है।