मूसलाधार बरसात से पानी-पानी हुई मायानगरी, पांच दिनों का हाई एलर्ट, एनडीआरएफ ने संभाला मोर्चा

Mumbai. मुंबई सहित सूबे में हो रही मूसलाधार बारिश के मद्देनजर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) ने प्रशासन को आगामी 5 दिनों तक अलर्ट पर रहने का आदेश दिया है। मुंबई सहित आस पास के इलाकों में बुधवार को 164 मिमी से ज्यादा बारिश दर्ज की गई। इससे मुंबई के कई इलाकों में जलभराव हो गया था। मुंबई नगर निगम कर्मियों द्वारा जलभराव वाले इलाकों में पंपिंग कर जल निकासी का प्रयास किया गया।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को मुंबई नगर निगम के आपातकालीन नियंत्रण कक्ष (Emergency Control Room) में जाकर स्थिति का जायजा लिया। मौके पर मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर, नगर निगम के आयुक्त इकबाल चहल सहित तमाम अधिकारी उपस्थित थे। यहां मौसम विभाग की ओर से आगामी 5 दिनों तक इसी तरह की बारिश की संभावना जतायी गई है। ख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय आपदा मोचक बल (एनडीआरएफ) व राज्य आपदा मोचक बल (एसडीआरएफ) को पूरी तरह सतर्क रहना चाहिए। किसी भी तरह की आपदा की स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन को तैयार रहना चाहिए। मुख्यमंत्री ने सूबे के सभी जिलाधिकारियों को भी बारिश को लेकर सतर्क रहने का आदेश जारी किया है। 

मुंबई नगर निगम के आयुक्त इकबाल चहल ने बताया कि आज मुंबई व आसपास इलाकों में 164 मिमी बारिश दर्ज की गई है। चहल ने बताया कि मुंबई व आसपास की जलनिकासी की क्षमता 30 मिमी बारिश की ही है। इतनी अधिक मात्रा में बारिश होने पर जलभराव होना कोई आश्चर्यजनक बात नहीं है। हिंदमाता इलाके में चल रहा प्रोजेक्ट जून अंत तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद जुलाई महीने में दादर, लालबाग, हिंदमाता आदि इलाकों में जलभराव नहीं होगा।

इसी तरह बारिश के दौरान शहर में सब-वे को बंद करने का निर्णय लिया गया है। चहल ने कहा कि रेलवे की ओर से सहयोग न मिलने से कुछ स्थानों पर पटरी पर पानी आ गया लेकिन पश्चिम व पूर्व राजमार्ग अवरुद्ध नहीं हुआ है। मंगलवार की रात से हो रही लगातार बारिश से मुंबई के कई इलाकों में जलभराव हो गया है। शाम को बारिश थमी तो जलभराव वाले इलाकों में जल निकासी का काम शुरू किया गया।